Breaking News

World Largest Platform: दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन Grand Central Terminal है, इस रेलवे स्टेशन पर है सीक्रेट प्लेटफॉर्म

World Largest Platform: {नई दिल्ली} रेलवे को न केवल भारत में, बल्कि दुनिया के अधिकांश देशों में राज्यों और शहरों को जोड़ने का सबसे अच्छा साधन माना जाता है। दुनिया भर में ऐसे कई रेलवे स्टेशन हैं, जो अपने आप में लाजवाब हैं या फिर कुछ खासियत रखते हैं। अगर हम दुनिया के सबसे लंबे प्लेटफॉर्म की बात करें तो यह भारत के कर्नाटक में हुबली रेलवे स्टेशन पर मौजूद है। वहीं अगर देश के सबसे बड़े रेलवे स्टेशन की बात करें तो वह हावड़ा जंक्शन है। यहां 26 प्लेटफार्म हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कौन सा है?

World Largest Platform

आज हम आपको दुनिया के सबसे बड़े रेलवे स्टेशन के बारे में बताने जा रहे हैं। इस रेलवे स्टेशन का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी दर्ज है। इस रेलवे स्टेशन की कुछ बातें आपको हैरान कर देंगी। यह न केवल क्षेत्रफल की दृष्टि से, बल्कि अधिकतम प्लेटफॉर्मों की दृष्टि से भी विश्व का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है।

यह दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है

ग्रैंड सेंट्रल टर्मिनल दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है। यह न्यूयॉर्क शहर, संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है। इस स्टेशन का निर्माण साल 1903 से 1913 के बीच किया गया था। इसे उस जमाने में बनाया गया था जब भारी मशीनें नहीं हुआ करती थीं। इस सबसे बड़े रेलवे स्टेशन को बनने में दो साल से ज्यादा का समय लगा था।

दो भूमिगत स्तर हैं

आपको जानकर हैरानी होगी कि न्यूयॉर्क के इस रेलवे स्टेशन पर कुल 44 प्लेटफॉर्म हैं। यानी यहां एक साथ कुल 44 ट्रेनें खड़ी हो सकती हैं। इस स्टेशन से रोजाना औसतन 660 मेट्रो नॉर्थ ट्रेनें गुजरती हैं और 1,25,000 यात्री यात्रा करते हैं। इस रेलवे टर्मिनल में दो अंडरग्राउंड लेवल हैं। यहां 41 पटरियां ऊपरी स्तर पर हैं और 26 पटरियां निचले स्तर पर हैं। यह स्टेशन 48 एकड़ जमीन पर बना है।

इस स्टेशन पर एक गुप्त मंच है

एक गुप्त मंच भी है, जो स्टेशन के ठीक बगल में बने वाल्डोर्फ एस्टोरिया होटल के ठीक नीचे है। राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूजवेल्ट व्हीलचेयर की मदद से सीधे इस खुफिया मंच पर उतरे ताकि वे जनता और मीडिया का सामना करने से बच सकें। हर साल स्टेशन से करीब 19 हजार चीजें खो जाती हैं और उनमें से करीब 60 फीसदी प्रशासन वापस कर देता है।

About aviindianews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *