Breaking News

QR Code Scan Payment: अगर आप QR कोड स्कैन करके करते है पेमेंट तो इन बातों का रखें खासतोर से ध्यान, एक गलती पड़ जाएगी भारी !

QR Code Scan Payment: आजकल स्मार्टफोन सिर्फ कॉलिंग के ही काम नहीं आता है बल्कि इसका इस्तेमाल कई कामों के लिए किया जाता है। डिजिटल ट्रांजैक्शन का काम भी आजकल लोग स्मार्टफोन के जरिए ही करते हैं। बता दें कि कई तरह के पेमेंट ऐप हैं, जिनके जरिए लोग डिजिटल ट्रांजैक्शन करते हैं।

QR Code Scan Payment

अब लोग नकद भुगतान के बजाय ऑनलाइन लेनदेन या यूपीआई भुगतान को प्राथमिकता देने लगे हैं। आपको बता दें कि कई पेमेंट ऐप में क्यूआर कोड को स्कैन करके पेमेंट किया जाता है। अगर आप भी QR कोड स्कैन करके पेमेंट करते हैं तो थोड़ा सावधान हो जाएं। हालांकि, हाल के दिनों में बैंकिंग फ्रॉड के मामले भी तेजी से बढ़े हैं। ऐसे में क्यूआर कोड स्कैन कर पेमेंट करते वक्त कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है।

अनजान क्यूआर कोड को स्कैन न करें

याद रखें कि कभी भी किसी अज्ञात क्यूआर कोड को स्कैन न करें या अपना यूपीआई पिन दर्ज न करें। कई बार यूजर्स किसी अनजान क्यूआर कोड को स्कैन करते हैं और यूपीआई पिन डालते ही फ्रॉड का शिकार हो जाते हैं और उनके खाते से सारे पैसे गायब हो जाते हैं।

फिशिंग ईमेल

ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिनमें साइबर क्रिमिनल्स ने क्यूआर कोड वाले फिशिंग ईमेल के जरिए लोगों को ठगा है। इसमें साइबर जालसाज ऐसे संदेश भेजते हैं जिनमें एक लिंक होता है और कहते हैं कि इसे स्कैन करने से आपका फोन मैलवेयर से सुरक्षित रहेगा। जब यूजर्स उनकी आड़ में ऐसा करते हैं तो उनकी बैंक डिटेल्स और पर्सनल डिटेल्स साइबर क्रिमिनल्स के पास पहुंच जाती हैं।

ऐसे बचें ठगी से

क्यूआर कोड स्कैन करने के बाद साइट और डोमेन नेम को जरूर चेक कर लें। क्यूआर कोड स्कैन कर भुगतान करने के लिए आपको कोई एप डाउनलोड करने की जरूरत नहीं है। आपको बता दें कि ज्यादातर स्मार्टफोन में कैमरा ऐप में स्कैनर होता है। अगर कोई आपसे क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए ऐप डाउनलोड करने के लिए कह रहा है, तो उससे बचना चाहिए। क्यूआर कोड के माध्यम से भुगतान करने के लिए आपको अपनी यूपीआई आईडी या बैंक खाता विवरण साझा नहीं करना चाहिए। उपयोगकर्ताओं को क्यूआर कोड के माध्यम से भुगतान करने के लिए ओटीपी का उपयोग नहीं करना चाहिए।

About aviindianews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *